Articles

Here you will find all the articles written from time to time

Daily Horoscope

Know how your day is

Know Your Sign

Know what your Star sign says about you

Latest Post

☆☆ ज्योतिष और विश्व परिदृश्य ★★ श्री नरेन्द्र मोदी और शी जिंगपिंग •• देश, काल और परिस्थिति अनुसार तथा तात्कालिक ग्रह स्थिति अनुसार । शनि के रूप में भारत उन्नति की दिशा में अग्रसर है । आने वाले समय मे शनि - मकर और कुंभ राशियों में संचार करेगा - जो उसकी अपनी ही राशियां हैं । अभी-अभी केतु ने शनि से दूरी बनानी आरम्भ की है जिससे भारत का परिदृश्य साफ होने लगा है । उलझनें उससे दूर होने लगी है और दूरगामी लक्ष्य साधने के मार्ग प्रशस्त होने लगे हैं । बुध और शुक्र के रूप में उसके मित्र बलवान स्थिति में हैं और उसकी सहायता को तत्पर हैं । जापान, आस्ट्रेलिया और अमेरिका ऐसे ही भारत के मित्र है - जिनसे क्वाड नामक ग्रुप बना है और इसमे भारत भी है । आने वाले पाँच वर्षों में जब शनि मकर और कुंभ राशियों में होगा - भारत का शक्तिशाली बनना तय जान पड़ता है । उधर - गुरु के रूप में चीन - अपनी मित्र राशि मे होने के बावजूद शनि से पीछे है - ये उसके मान-सामान में कमी कर देता है और आने वाले समय मे वो राहु-केतु जैसे दो पाप ग्रहों से घिरने वाला है । अपनी मूल त्रिकोण राशि धनु में संचार के बाद भी वो राहु-केतु से घिरा रहेगा । अमरीका और रूस - राहु-केतु के रूप में चीन की परेशानियाँ बढ़ाते रहेंगे । इसमे राहु के रूप में अमरीका उससे राजनीतिक चालें चलता रहेगा और केतु के रूप में रूस उसके करीब होगा परन्तु उसका मंतव्य चीन समझ नही पायेगा और इस तरह चीन 2020 का पूरा वर्ष उलझनों से घिरा रहेगा । कुछ इसी तरह की मानसिकता के साथ इन दोनों देशों के प्रधान श्री नरेन्द्र मोदी और शी जिंगपिंग, भारत मे मिल रहे हैं । भारत - पाकिस्तान के मसले को एक तरफ हटाकर चीन से सीमाओं पर शाँति का आश्वासन लेगा । क्योंकि - पाकिस्तान से वो खुद ही निपट लेगा । शनि के बलवान होने से भारत - आत्मविश्वास से भरा होकर बात करेगा । उधर चीन - गुरु के रूप में पाप ग्रहों से घिरा है अर्थात - वैश्विक राजनीति में उसकी साख कम हो रही है और इसका सीधा प्रभाव उसकी अर्थ व्यवस्था पर पड़ रहा है । गुरु धन कारक है और गुरु की स्थिति से लग रहा है कि - चीन को अपने खजाने की चिंता हो रही है । इससे चीन - भारत से व्यापार में आश्वासन मांगेगा और इसे और बढ़ाने का प्रयास करेगा । इससे आने वाले समय मे कुछ नई चीनी कंपनियाँ भारत मे प्रवेश करेगी और चीन के साथ भारत का व्यापार बढ़ेगा । भारत कई छोटे-छोटें मुद्दे उठाकर चीन के भारत-पाकिस्तान में दखल को कम करेगा - इससे पाकिस्तान की हालत और खराब होगी और क्षेत्र में भारत का वर्चस्व बढ़ेगा । शी जिंगपिंग और श्री मोदी की मुलाकात को बहुत सार्थक बताया जायेगा परन्तु मुलाकात के अंत में शी जिंगपिंग की बॉडी लैंग्वेज बता देगी कि - किसको क्या मिला है । बहरहाल, चीन - चीन है । जब जब गुरु - मीन-राशि मे प्रवेश करेगा तो, गुरु - अपनी राशि मे और शनि से आगे होगा । ये दर्शाता है कि - तब तक चीन समर्थ हो जायेगा और कूटनीतिक बढ़त हासिल करने का प्रयास करेगा । तभी - पाकिस्तान में बन रहे चीनी व्यापारिक गलियारे का कोई हल निकलेगा । तभी भारत भी इस पर अपनी सहमति देगा । जो भी हो - विश्व परिदृश्य बदल रहा है और व्यापारिक पैमाना भी बदल रहा है । ऑन लाईन व्यापार और बढ़ेगा, इसलिये जो लोग इसके कम होने याँ इसके बन्द हो जाने की आशा में बैठे है - वो भूल जायें । बलवान शनि - बुध का सहयोग करेगा और बुध - ऑन लाईन व्यापार है । सोने के दाम बढ़ने वाले है । जिन्हें सोना खरीदना है - उनके लिये नवम्बर और दिसम्बर 2019 अन्तिम मौका है । इसके बाद - जैसे-जैसे केतु - गुरु के करीब आयेगा, सोने के दाम बढ़ते चलेंगे और 2020 में सोना फिर पीछे नही लौटेगा । सुरेश भारद्वाज - उल्हासनगर, मुम्बई

Sorry no post matched your criteria

Pt. Suresh Bhardwaj

Submit your suggestions below